Editor Login

अनंत सिंह के रिहाई की राहें आसान नहीं !

अनंत सिंह के रिहाई की राहें आसान नहीं !

>> एफएसएल की टीम पहुंची बेऊर जेल

पटना ( अ सं ) । सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिलने के बाद भी विधायक अनंत सिंह की रिहाई की राहें आसान नहीं दिख रहीं । अनंत सिंह से जुड़े एक मामले में एफएसएल की टीम बेऊर जेल पहुंच आवाज़ का नमूना लिया ।
करीब दो वर्षों से आदर्श केन्द्रीय कारा बेऊर में बंद मोकामा के दबंग विधायक अनंत सिंह की जब भी जेल से रिहाई की होती हैं तो कोई न कोई कानूनी मुश्किलें पैदा हो जाती है और विधायक की आस पर पानी फिर जाती हैं । चार माह पहले ही विधायक अनंत सिंह जेल से रिहा हो जाते की पटना जिला पुलिस प्रशासन ने सीसीए लगा दिया ।हाईकोर्ट ने सीसीए को बरकरार कर दिया । विधायक अपील लेकर सुप्रीम कोर्ट गये । सुप्रीम कोर्ट ने दस दिन पूर्व मामले की सुनवाई करते हुए सीसीए की कार्रवाई को गलत बताया । सुप्रीम कोर्ट से आदेश की प्रति जेल पहुंचती की उससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को जान मारने की धमकी एवं अन्य आरोप पर गया कोर्ट ने प्रोडक्शन वारंट भेज विधायक अनंत सिंह के रिहाई पर ग्रहण लगा दिया । चुकी जीतन राम मांझी से जुड़ा मामला राजनीतिक था इसलिए जल्द ही जमानत भी मिलने की सम्भावनाएं दिख रहीं हैं । ऐसा कानून के जानकारों का मानना हैं । शायद सम्भावनाएं अनुकूल हो इससे इंकार नहीं किया जा सकता ।विधायक अनंत सिंह पर जितने भी संगीन अपराध हत्या एवं अपहरण के मामले में जमानत मिल चुकी हैं ।
बीते गुरुवार को बिल्डर राजू सिंह से जुड़े एक मामले में एफएसएल की टीम आदर्श केन्द्रीय कारा बेऊर पहुंची और जेल में बंद विधायक अनंत सिंह के आवाज की नमूना जांच  के लिए ली गयी । यह मामला रंगदारी से जुड़ा हैं ।मालूम हो कि  विधायक अनंत सिंह बीते दो वर्ष से जेल में बंद हैं । अपराध के मामले में कानूनन 60 /90 दिनों में पुलिस को चार्जशीट करना होता हैं । इस तरह एफएसएल की जांच कुछ और इशारा कर रहीं हैं । सुत्र बताते हैं की विधायक अनंत सिंह पर पुनः दूसरे मामले में प्रोडक्शन वारंट जारी करने की तैयारी हो सकती हैं । हालाँकि प्रोडक्शन वारंट से संबंधित किसी पुलिस पदाधिकारी द्वारा अधिकारीक पुष्टि नहीं की जा रहीं हैं लेकिन एफएसएल की टीम को बेऊर पहुंचना कुछ इसी तरह का इशारा कर रहीं हैं ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *