Editor Login

अमहारा के लाल -दया शंकर को केन्द्रीय गृहमंत्री ने किया सम्मानित ,ग्रामीणों में जश्न

अमहारा के लाल -दया शंकर को केन्द्रीय गृहमंत्री ने किया सम्मानित ,ग्रामीणों में जश्न

>> सराहनीय कार्य के लिए मिला है प्रेसिडेंट पुलिस मेडल
>> मध्यप्रदेश के विन्ध्यनगर स्थित एनटीपीसी प्लांट में वरीय समादेष्टा के पद पर हैं तैनात
>> दया शंकर ने अपने गांव अमहारा में ही मध्य एवं उच्च शिक्षा की है पढ़ाई

निक्की मणि

पटना  ( अ सं ) । आज पढ़ाई के लिए बच्चे को बड़े शहरों में भेजा जा रहा हैं । लेकिन ऐसा नही की गांव में पढ़ने वाले बच्चे बेहतर नही करते । जिसमें मेहनत की जज्बा है वह गांव से भी शिक्षा ग्रहण कर मुकाम पाते हैं । इसी में एक है राजधानी जिले अमहारा गांव के लाल -दया शंकर ।
दया शंकर ,ख्याति साहित्यकार प्रो रामनाथ शर्मा के जेष्ठ पुत्र हैं । दया शंकर ने मध्य एवं उच्च शिक्षा ,अपने गांव स्थित विद्यालय से ही किया हैं । उच्चतर शिक्षा ,पटना विश्व विद्यालय से पुरा किया हैं ।दया शंकर 1994 में सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण कर 1995 में औद्योगिक सुरक्षाबल में अपना योगदान दिया । वर्तमान में दया शंकर मध्यप्रदेश के विन्ध्यनगर स्थित एनटीपीसी प्लांट में वरीय समादेष्टा के पद पर तैनात हैं ।
विभिन्न संस्थानों एवं मिशनों में सराहनीय कार्य करने के लिए बीते 10 मार्च को केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के 50 वें स्थापना दिवस पर केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में वरीय समादेष्टा दया शंकर को प्रेसिडेंट पुलिस मेडल से सम्मानित किया । ज्ञात हो की दया शंकर को दो बार सीआईएसएफ, डीजी से श्लाघा सम्मान मिल चुका हैं ।दया शंकर पूर्व में एयरपोर्ट ,सीपोर्ट, और यू. एन मिशन के तहत कोसोबो में भी अपनी सेवा दे चुके हैं ।
जैसा बताया जाता हैं की दया शंकर अपने बैच में सबसे अधिक संस्कृत में मार्क्स लाने वाले ,प्रतिभान थे। इन्हें अपने संस्कृति से बेहद लगाव हैं और आज भी इनका आत्मा अपने गांव में बरता हैं ।जब भी छुट्टी पर आते हैं तो गांव के विद्यालय में बच्चे को जरूर पढ़ाते है और खेतों में किसान-मजदूरों के साथ जुट जाते हैं । दया शंकर जी बताते हैं की यह संस्कार ,उन्हें अपने गुरू तुल्य पिता ,प्रो रामनाथ शर्मा से मिला हैं । उन्होंने बताया की अमहारा,पहले वाला गांव नही रहा बल्कि अब विकसित शहर से कम नही हैं ।
सीआईएसएफ के वरीय समादेष्टा दया शंकर को केन्द्रीय गृहमंत्री द्वारा सम्मानित होने पर ग्रामीणों में जश्न का माहौल हैं ।एक-दूसरों को ग्रामीणों ने मिठाईयां बांटी है वही गांव के बुद्धिजीवी विधायक सिद्धार्थ सिंह ,रवी शंकर, अमीत्रजीत उर्फ बऊल, अवनिश सिंह ,राजन, साजन, अरविंद सिंह ,आदी ने बधाई दिया हैं ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *